मन से

If you have even one friend, true friend in your life, then I reckon you are one of the lucky ones.

To friendship, the spirit of friendship.

Share with your friends and let them know their value in your life.

 

आओ आज का दिन ख़त्म करते है,
ख़त्म करने से पहले कुछ बाते करते है,
पूरे दिन के किस्से सुनते है,
दोस्तों के संघ अपने टूटे हिस्से ढूढ़ते है,

अपनी कहानी कहते और सुनते है,
शोर के बाजार में सुकून चुनते है,
कुछ देर ही सही पर यारो में हम,
आओ अपना बचपन जी लेते है.

मतलब की इस दुनिया में दोस्त क्यों मिलते है?
न जाने क्यों पर यही सही लगते है,
सबकी राह अलग है सबकी चाह अलग है,
फिर भी हम एक दूसरे से कुछ समय तक जुड़े रहते है.

यादे बोहत है अगर सोचा जाये,
पर याद तोह वही आती है जहा दोस्तों का ज़िक्र आये,
सीखते सीखते लड़ते गिरते,
हस्ते हसाते यह है कुछ अनकहे रिश्ते.

रोने पे सँभालते है और फिर खुद ही हँसके रुलाते है,
दर लगने पे खुद दौड़े चले आते है,
न जाने क्या है इस दोस्ती की सचाई,
कई कवियों ने लिखा फिर भी दोस्ती समझ न आयी.

उम्र की पाबन्दी नहीं, जात का पता नहीं,
भाषा का अंकुश नहीं, दोस्ती की आवाज़ नहीं.
यह वह एहसास है जो किस्मत से मिलता है,
दोस्त किस्मत वालो को ही मिलता है.

आओ आज का दिन खत्म करे,
चलो कुछ देर अपने दोस्तों से बाते करे.

4 thoughts on “मन से

Leave a Reply to Nishant Gang Cancel reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s